Home > समाचार > साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त कहने पर मांगी माफ़ी, लेकिन मोदी बोले ‘मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर सकूंगा’

साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त कहने पर मांगी माफ़ी, लेकिन मोदी बोले ‘मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर सकूंगा’

पिछले कुछ दिनों में भाजपा नेताओं द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को महिमामंडित करने वाली टिप्पणियां सामने आयीं थी जिसमें प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी शामिल थीं। उन्होंने तो नाथूराम गोडसे को देशभक्त तक बता दिया था।

अब प्रधानमंत्री मोदी का एक इंटरव्यू टीवी चैनल का सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि मैं कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा उन्हें बापू का अपमान करने के लिए।

गुरुवार को, प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि नाथूराम गोडसे एक देशभक्त था, एक ‘देशभक्त’ है और एक ‘देशभक्त’ ही रहेगा। उसे आतंकवादी कहने के बजाय लोगों को अपने भीतर देखना चाहिए, ऐसे लोगों को चुनाव में उचित जवाब दिया जाएगा।

उनके इस बयान के बाद तीन और नेताओं, अनंत कुमार हेगड़े, नलिन कुमार कतेल और अनिल सौमित्र की भी टिप्पणियां सामने आयीं थी।

भाजपा ने उस इंटरव्यू को ट्वीट करते हुए लिखा कि साध्वी प्रज्ञा ने महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर जो भी बातें कही हैं, वो बातें पूरी तरह से आलोचना के लायक हैं। सभ्य समाज में इस प्रकार की बातें नहीं चलती हैं। उन्होंने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।

पीएम मोदी ने कहा कि गाँधी जी या गोडसे को लेकर भी बयान आएं हैं यह भयानक है, हर तरह से नफरत के लायक हैं। सभ्य समाज में ऐसी भाषा नहीं चलती है ऐसा करने वालों को सौ बार आगे सोचना पड़ेगा। उन्होंने माफ़ी मांग ली हो वह अलग बात है लेकिन मैं अपने मन से माफ़ नहीं कर सकूंगा।

हालाँकि भोपाल से चुनाव लड़ रही प्रज्ञा ठाकुर को इससे पहले पीएम मोदी से मजबूत समर्थन मिला था, जब मालेगांव विस्फोट के आरोपी को हटाने के लिए विपक्ष ने भाजपा पर हमला किया था। पीएम मोदी ने कहा था कि उनकी उम्मीदवारी उन सभी के लिए एक प्रतीकात्मक जवाब है जिन्होंने हिंदू सभ्यता को आतंकवादी करार दिया था।

साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयान को लेकर माफ़ी भी मांग ली है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि मैं नाथूराम गोडसे के बारे में दिये गए मेरे बयान के लिये देश की जनता से माफ़ी माँगती हूँ । मेरा बयान बिलकुल ग़लत था । मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का बहुत सम्मान करती हूँ।

Leave a Reply