Home > समाचार > ममता बनर्जी का meme शेयर करने वाली भाजपा कार्यकर्ता को मिली ज़मानत, लेकिन माफ़ी मांगने की शर्त के साथ

ममता बनर्जी का meme शेयर करने वाली भाजपा कार्यकर्ता को मिली ज़मानत, लेकिन माफ़ी मांगने की शर्त के साथ

supreme court of india

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा को जमानत दे दी, जिनको सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की एक मॉर्फेड तस्वीर पोस्ट करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने कहा है की वह ममता बनर्जी से बिना शर्त लिखित माफी मांगे।

आपको बता दें कि प्रियंका शर्मा को 10 मई को ममता बनर्जी की मॉर्फ्ड तस्वीर शेयर करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। इस तस्वीर में जिसमें ममता का चेहरा अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की फोटो पर लगाया गया था।

तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता विश्वास चंद्र हाजरा ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि यह मेमे कम्युनिटी गाइडलाइन और कोलकाता की संस्कृति के खिलाफ थी। यह हिंसात्मक थी व पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री का अपमान था।

ख़बरों के अनुसार, दूसरी ओर प्रियंका के वकील नीरज किशन कौल का कहना है कि एक 25 साल की लड़की के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर प्रभाव पड़ेगा। यह तस्वीर पहले से ही वायरल थी और उसने इसे बनाया नहीं था लेकिन सिर्फ शेयर किया था। गिरफ्तार होने से पहले उन्होंने पोस्ट को हटा दिया था।

वकील ने कहा कि भाजपा नेताओं के भी इस तरह से कैरिकेचर व कार्टून बनाये गए हैं लेकिन ऐसा कुछ नहीं किया गया। अगर कल को कोई इस तरह का पोस्ट शेयर करेगा तो क्या उसे गिरफ्तार किया जाएगा। क्या उसे जमानत पाने के लिए माफी मांगने के लिए मजबूर किया जाएगा?

जस्टिस इंदिरा बनर्जी और संजीव खन्ना सहित शीर्ष अदालत की अवकाश पीठ ने कहा कि किसी व्यक्ति के अधिकारों का हनन होने पर उसकी स्वतंत्रता समाप्त हो जाती है। जस्टिस बनर्जी ने कहा कि बोलने की स्वतंत्रता है लेकिन किसी और के अधिकारों का उल्लंघन करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

Leave a Reply