Home > विशेष

ईवीएम की बात पर बेशक हंसिए, क्या उन हत्याओं पर भी हंसेंगे जिनका….

लंदन के इस प्रेस कांफ्रेंस की पत्रकारों के बीच कई दिनों से चर्चा चल रही थी। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन( यूरोप) और फोरेन प्रेस एसोसिएशन ने...
Read More

पाँच साल में सरकार के काम के विज्ञापन पर 5000 करोड़ से अधिक ख़र्च करने के बाद भी PM सरकारी ख़र्चे से…

केरल में 13 किमी बाइपास का उद्घाटन तो मुंबई में भारतीय सिनेमा के राष्ट्रीय संग्रहालय के नए भवन का उद्घाटन। सिल्वासा में मेडिकल कालेज की...
Read More

आखिर क्यों उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को संसद में कहना पड़ा था, ‘लोग सांसदों का मज़ाक उड़ा रहे है’

लोग हम पर हंस रहे हैं, लेकिन फिर भी हम हंस रहे हैं! यह शब्द थे राज्यसभा चेयरमैन और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के जब साल...
Read More

राफेल विमान और 10 फीसदी आरक्षण से फुर्सत मिले तो ज़रा ठंड में ठिठुरते इन छात्रों के आंदोलन को देख लेना

सिविल सेवा परीक्षा के अभ्यर्थियों को आज दिल्ली में धरना देते हुए एक हफ्ते से ज्यादा होते जा रहे हैं लेकिन ना तो सरकार और...
Read More

दा एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर यूट्यूब से गायब, अनुपम खेर बोले ‘यूट्यूब से गुज़ारिश जल्दी ठीक करें’

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल पर बनी फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर अब यूट्यूब से गायब हो गया है। इसकी शिकायत अनुपम...
Read More

पत्रकार बनने के लिए युवाओ के लिए रवीश कुमार की सख्त नसीहत

चुनाव आते ही कुछ युवा पत्रकार व्हाट्स एप करने लगते हैं कि मुझे चुनाव यात्रा पर ले चलिए। आपसे सीखना है। लड़का और लड़की दोनों।...
Read More

35 लाख लोगों की नौकरी गई और विज्ञापन पर ख़र्च हुआ 5000 करोड़

उन 35 लाख लोगों को प्रधानमंत्री सपने में आते होंगे, जिनके एक सनक भरे फैसले के कारण नौकरियां चली गईं। नोटबंदी से दर-बदर हुए इन...
Read More

बजरंगबली और अली को लेकर दिए गए बयान पर सीएम योगी के खिलाफ हुए भाजपा के लोग, जानिए किसने क्या कहा

लखनऊ : मध्य प्रदेश में एक सभा में हज़रत अली और बजरंगबली वाले बयान में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब मुस्लिम धर्मगुरुओं के बाद...
Read More

विहिप और शिवसेना के लिए राम मंदिर तो बहाना है असली मुद्दा तो वर्चस्व बढ़ाना है?

हिंदुत्व के वर्चस्व को लेकर राम मंदिर के नाम पर धर्मसभा को लेकर विश्व कई संगठन सामने आये हैं। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए...
Read More

क्या अमित शाह कभी सोचते होंगे कि हरेन पांड्या की हत्या और सोहराबुद्दीन-कौसरबी-तुलसीराम एनकाउंटर ख़बर ज़िंदा कैसे हो जाती है?

नहीं छपने से ख़बर मर नहीं जाती है। छप जाने से अमर भी नहीं हो जाती है। मरी हुई ख़बरें ज़िंदा हो जाती हैं। क्योंकि...
Read More

मतदान के घमासान के बीच से एक रिपोर्टर की व्हाट्स एप डायरी

सोमेश पटेल छत्तीसगढ़ से एनडीटीवी के लिए सूचनाएं भेजते रहते हैं। चूंकि मैं न्यूज़ की प्रक्रिया में सक्रिय रूप से शामिल नहीं रहता इसलिए नहीं...
Read More
1 2 3 59