Home > विशेष > आज से 100 साल पहले हुआ था जलियांवाला बाग़ नरसंहार, जानिए पूरी दास्तान

आज से 100 साल पहले हुआ था जलियांवाला बाग़ नरसंहार, जानिए पूरी दास्तान

13 अप्रैल 1919 इतिहास का वह काला दिन जब ज़ुल्म ने अपनी सारी हदें पार कर दी थी और इंसानियत को तार तार किया गया। जी, यहाँ बात हो रही है जलियाँवाला बाग़ नसंहार की जिसे आज 100 साल पुरे हो गए हैं लेकिन ज़ख्म अभी भी ताज़ा है।

आज ही के दिन जलियाँवाला बाग़ में हज़ारों की तादाद में भारतीय लोग, शांतिपूर्ण तरीके से रौलट एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन अँगरेज़ हुक्मरानो को यह पसंद नहीं आया और लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई गयी।

जलियाँवाला बाग़ की बात करें तो यह जगह अमृतसर के पास पवित्र स्वर्ण मंदिर के नज़दीक है। आज से 100 साल पहले जब यहाँ गोलीबारी की गयी वहां सिर्फ आदमी नहीं औरतें व बच्चे भी मौजूद थे।

हर तरफ गोलियों की आवाज़ों के बीच लोगों की चीखें थी, माँओं ने अपने बच्चों को बचाने के लिए कुएं में कूद गयी। बहार जाने का रास्ता बहुत पतला था कई लोग तो भगदड़ में कुचल कर मारे गए। यह नरसंहार देश के इतिहास में काला दिन थी।

इस पूरी घटना का ज़िम्मेदार था, जनरल डायर, जिसने वहां पहुंचते ही बिना किसी चेतावनी, अपने सिपाहियों से गोलियां चलवा दी। जब गोलीबारी ख़त्म हुई तो कुएं से 200 से ज्यादा शव निकाले गए थे।

Leave a Reply